Qatra Lyrics in Hindi/English – 2021

Qatra Lyrics in Hindi/English – 2021: Qatra Lyrics by Stebin Ben is Latest Hindi song sung by Stebin Ben and this brand new song is featuring Karishma Tanna, Ritwik Bhowmik. Qatra lyrics are written by Sanjeev Chaturvedi while music is also composed by Sanjeev Chaturvedi and video is directed by Mudassar Khan. Here, you can read lyrics also you can watch youtube video of Qatra Lyrics as given below.

Qatra Lyrics Song Credits:

Song:Qatra
Singer:Stebin Ben
Lyrics:Sanjeev Chaturvedi
Music:Sanjeev Chaturvedi
Starring:Karishma Tanna, Ritwik Bhowmik
Label:Sony Music India

Qatra Lyrics in Hindi

दिल दरबदर है
आशियाँ ढूंढता है
तेरी आँखों में ये
ख्वबगाह ढूँढता है
बेपनाह है ज़रा मेहरबान

क़तरा ही तो माँगा है
समंदर तो नही माँगा
बस इश्क़ ही माँगा है
अम्बर तो नही माँगा

क़तरा ही तो माँगा है
समंदर तो नही माँगा

मेरे सीने पे रख हाथ अपना ज़रा
गौर से सुन मेरी धड़कने कह रही
सुन ले दिल की ज़ुबान मेहरबान

क़तरा ही तो माँगा है
समंदर तो नही माँगा
बस इश्क़ ही माँगा है
अम्बर तो नही माँगा

क़तरा ही तो माँगा है
समंदर तो नही माँगा
क़तरा ही तो माँगा है
समंदर तो नही माँगा

आँखों की आरज़ू है तुम रहो सामने
एक लम्हा कभी दूर जाना नही
आँखों की आरज़ू है तुम रहो सामने
एक लम्हा कभी दूर जाना नही
करदे एहसान ज़रा मेहरबान

क़तरा ही तो माँगा है
समंदर तो नही माँगा
बस इश्क़ ही माँगा है
अम्बर तो नही माँगा

क़तरा ही तो माँगा है
समंदर तो नही माँगा
क़तरा ही तो माँगा है
समंदर तो नही माँगा

Qatra Lyrics in English

Qatra Lyrics in Hindi/English - 2021

Dil Darbadar Hai
Aashiyan Dhoondta Hai
Teri Aankhon Mein Yeh
Khwabgah Dhundta Hai
Bepanah Hai Zara Meharbaan

Qatra Hi Toh Manga Hai
Samandar Toh Nahi Manga
Bas Ishq Hi Manga Hai
Ambar Toh Nahi Manga

Qatra Hi Toh Manga Hai
Samandar Toh Nahi Manga
Qatra Hi Toh Manga Hai
Samandar Toh Nahi Manga

Mere Seene Pe Rakh Hath Apna Zara
Gaur Se Sun Meri Dhadkane Keh Rahi
Mere Seene Pe Rakh Hath Apna Zara
Gaur Se Sun Meri Dhadkane Keh Rahi
Sunle Dil Ki Zubaan Meharbaan

Qatra Hi Toh Manga Hai
Samandar Toh Nahi Manga
Bas Ishq Hi Manga Hai
Ambar Toh Nahi Manga

Qatra Hi Toh Manga Hai
Samandar Toh Nahi Manga
Qatra Hi Toh Manga Hai
Samandar Toh Nahi Manga

Aankhon Ki Arzoo Hai Tum Raho Samne
Ek Lamha Kabhi Door Jaana Nahi
Aankhon Ki Arzoo Hai Tum Raho Samne
Ek Lamha Kabhi Door Jaana Nahi
Karde Aisa Zara Meharbaan

Qatra Hi Toh Manga Hai
Samandar Toh Nahi Manga
Bas Ishq Hi Manga Hai
Ambar Toh Nahi Manga

Qatra Hi Toh Manga Hai
Samandar Toh Nahi Manga
Qatra Hi Toh Manga Hai
Samandar Toh Nahi Manga